मंगलवार, अप्रैल 03, 2012

हाइकु संग्रह " माला के मोती

2 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

वाह बहुत उम्दा प्रस्तुति!
अब शायद 3-4 दिन किसी भी ब्लॉग पर आना न हो पाये!
उत्तराखण्ड सरकार में दायित्व पाने के लिए भाग दौड़ में लगा हूँ!

Maheshwari kaneri ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...